रविवार, 26 मई 2013

दिल्ली का दिल

दिल्ली का दिल 

हमारे शहर में
कोई व्याकुल है
ब्याह रचाने को
तैयार हैं बाराती
बैंड बाजा घोड़ी गाड़ी.

पंडित करता है हर बार
एक तिथि की घोषणा
दुल्हन की तरफ से हर बार
आता है एक जवाब डाक्टर का
दुलहन को समय चाहिए.

दुलहन बीमार है
हर बार एक नई बीमारी
मलेरिया, डेंगू, अपच, लकवा, पीलिया
मुहसे और अब चेचक
पूरी देह पर बड़े बड़े गड्ढे धब्बे.

गर्द माटी से सनी देह
हाँ मेरे शहर का दिल
कनाट प्लेस बेताब है
पिछले चार सालों से
दुलहन बनने को.

हम सब उसे देखने को
इस बार फिर एक नई तिथि
मिली है उसको
तीस जून.

24 टिप्‍पणियां:

  1. Kadvi sachhayee....mre blogpe aayen...mera dard sajha karen!

    उत्तर देंहटाएं
  2. दिल स्वस्थ रहे, धड़कता रहे, सुन्दर रहे।

    उत्तर देंहटाएं
  3. एक नई तिथि मिली है उसको तीस जून।
    दुआ करें इस बार डोली उठ ही जाये

    उत्तर देंहटाएं
  4. कड़वा सच - तारीख पै तारीख - जो हमारी नियति बन चुकी है

    उत्तर देंहटाएं
  5. जून तक दुल्हन बन संवर जाएगी इसमे संदेह ही है

    उत्तर देंहटाएं
  6. एक कडवा सच बयाँ कर दिया।

    उत्तर देंहटाएं
  7. शहर की कडवी सच्चाई व्यक्त की है वाकई दिल्ली अब बेदम दिल्ली
    हो गयी है-----
    गहन अनुभूति
    बधाई

    आग्रह हैं पढ़े
    ओ मेरी सुबह--

    उत्तर देंहटाएं
  8. यही कह सकते हैं --- सफल होगी तेरी आराधना !

    उत्तर देंहटाएं
  9. दिल्ली भी दिल रखती है और दिल में दर्द भी ??

    उत्तर देंहटाएं
  10. ये शादी रोज़ सुबह शाम भुगतनी पड़ती है मुझे तो

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत बदलाव की जरूरत है देश की राजधानी जैसे शहर के लिए.

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत सही।। काव्य के रूप में सही शब्द।

    उत्तर देंहटाएं
  13. सच कहा दिल्ली का दिल बीमार है ...
    तारीख पे तारीख ... तारीख पे तारीख ... खुदा खैर करे अब तो ...

    उत्तर देंहटाएं
  14. खुबसूरत अप्रत्यक्ष कथन शादी मनभावन हो

    उत्तर देंहटाएं
  15. कटाक्ष करने में सफल रचना |

    उत्तर देंहटाएं
  16. यही कामना करते है दिल्ली स्वस्थ रहे..

    उत्तर देंहटाएं
  17. दिल्ली के बारे में बिलकुल सही फिट है कविता.. अच्छी रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  18. दिल्ली के बारे में बिलकुल सही फिट है कविता... अच्छी रचना

    उत्तर देंहटाएं
  19. बिल्कुल सटीक अभिव्यक्ति...

    उत्तर देंहटाएं
  20. आपकी तरह यह इंतजार हमें भी रहेगा...

    उत्तर देंहटाएं
  21. बहुत ही भावपूर्ण निशब्द कर देने वाली रचना . गहरे भाव...बिल्कुल सटीक जरूरी कार्यो के ब्लॉगजगत से दूर था
    आप तक बहुत दिनों के बाद आ सका हूँ

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...