रविवार, 31 मार्च 2013

पासवर्ड


पासवर्ड 

मैं पासवर्ड हूँ
अजब अनोखा
मैं हैक होना चाहता हूँ
हैंग होना चाहता हू
खो जाना चाहता हूँ
भुला देना चाहता हूँ अपने आपको
एक बार आजमा कर तो देखो
हां मैं तुम्हारा और केवल तुम्हारा
पासवर्ड हूँ.

और फिर

पिछले कुछ दिनों से
बस एक ही मैसेज
बार बार देखती हूँ
आपका अकाउंट किसी ने खोला था
क्या वो आप थीं ?
जोर डालती हूँ 
दिमाग पर.
याद आने लगता है 
सब कुछ.
स्पैम में चले जाते हैं
मुझे उलझन में
डालने वाले सपने
चुपचाप बिना कुछ कहे.
डिलीट होने लगे हैं.
बुरे सपने 
अपने आप ही.
मैमोरी फुल सी होने लगी है
अच्छे और सुखदाई सपनों की
पर बिना कुछ भी किये
ये सब कैसे...
साफ़ समझ आने लगा है...
हैक हो गया है 
"मेरे सपनों का पासवर्ड"
कहीं वो हैकर 
"तुम" तो नहीं .....

25 टिप्‍पणियां:

  1. हैक हो गया है
    "मेरे सपनों का पासवर्ड"
    कहीं वो हैकर
    "तुम" तो नहीं ....

    बहुत खूब...

    उत्तर देंहटाएं
  2. हैक होना भी सुखदायी हो सकता है।
    बहुत खूब।

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह क्या लिखा...
    अब हैक होने से कौन डरेगाः)

    उत्तर देंहटाएं
  4. हैकिंग का ये रूप मन की सुहाने वाला है..... सुंदर रचना

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही सुन्दर और बेहतरीन अभिव्यक्ति,आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  6. सपनों का पासवर्ड" कहीं वो हैकर "तुम" तो नहीं
    बहुत सुंदर भावों की अभिव्यक्ति,,,,

    RECENT POST: होली की हुडदंग ( भाग -२ )

    उत्तर देंहटाएं
  7. मेरे सपनों का पासवर्ड"
    कहीं वो हैकर
    "तुम" तो नहीं ....

    बहुत खूब...

    उत्तर देंहटाएं
  8. पासवर्ड से सुरक्षित तो हो जायेंगे, भावनायें भी नहीं आयेंगी तब।

    उत्तर देंहटाएं

  9. कल दिनांक 01/04/2013 को आपकी यह पोस्ट http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर लिंक की जा रही हैं.आपकी प्रतिक्रिया का स्वागत है .
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  10. नये युग में .नई सोच ,और नई रचना के साथ
    नया रिश्ता ...
    मुबारक हो !

    उत्तर देंहटाएं
  11. हैक हो गया है
    "मेरे सपनों का पासवर्ड"
    कहीं वो हैकर
    "तुम" तो नहीं ....वाह बहुत सुन्दर भाव

    उत्तर देंहटाएं
  12. पासवर्ड के माध्यम से मन की भावनाओं की खूबसूरत अभिव्यक्ति. शानदार...

    उत्तर देंहटाएं
  13. वाह-वाह ,क्या हाईटेक कविता है रचना जी .....
    बहुत बढ़िया....

    साभार......

    उत्तर देंहटाएं
  14. अच्छी संवेदनशील कविता ,नए शब्द चयन बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  15. जबरदस्त ... प्रयोगात्मक रचना ...
    बेहतरीन बिम्ब सजाये हैं पासवर्ड के इर्द-गिर्द ...

    उत्तर देंहटाएं
  16. मेरे सपनों का पासवर्ड"
    कहीं वो हैकर
    "तुम" तो नहीं ....

    बहुत खूब......ग़ज़ब की कविता ... कोई बार सोचता हूँ इतना अच्छा कैसे लिखा जाता है

    उत्तर देंहटाएं
  17. पासवर्ड को लेकर कविता..अभिनव प्रयोग, बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  18. नया बिंब ... बेहतरीन अभिव्‍यक्ति
    आभार

    उत्तर देंहटाएं
  19. क्या बात है...जज्बातों को बड़े ही सुंदर ढ़ंग से कंप्युटरीकरण कर दिया है आपने....

    उत्तर देंहटाएं
  20. सबकी अपनी व्यथा ..पासवर्ड के माध्यम से बहुत बढ़िया सार्थक रचना...

    उत्तर देंहटाएं
  21. निराला अंदाज बहुत भाया..

    उत्तर देंहटाएं
  22. इस हैकिंग का अपना ही मज़ा है :):) सुंदर रचना

    उत्तर देंहटाएं
  23. क्या बात कही आपने हैकिंग का अपना मज़ा और हैक होने का .....

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...